सड़क सुरक्षा | Motivational Script in Hindi

दोस्तों, आज की इस स्क्रिप्ट में हम आपको Motivational Script in Hindi देने जा रहे हैं, आप नीचे इसे पढ़ सकते हैं और यहां से सामाजिक समस्या पर नुक्कड़ नाटक Script हिंदी में भी पढ़ सकते हैं।

 

 

पात्र 1 – पंकज (कक्षा 6 का छात्र)

 

 

पंकज के सहपाठी – प्रभात निरंजन आदि।

 

 

पात्र 2 – नीलम (प्रभात की दीदी)

 

 

(सुबह का समय प्रभात स्कूल के लिए तैयार)

 

 

नीलम – पंकज तुम हमेशा सड़क पर अपने बाई तरफ से ही चलना बेटा।

 

 

पंकज – ऐसा क्यों दीदी क्या हम सड़क पर दाहिनी तरफ से नहीं जा सकते है।

 

 

नीलम – नहीं बेटा, ऐसा कभी मत करना दूसरे को भी मत करने देना क्योंकि इससे मोटरगाड़ी और अन्य वाहनों से दुर्घटना होने की संभावना रहती है।

 

 

(पंकज स्कूल जाता है साथ में उसके सहपाठी, प्रभात, निरंजन आदि लड़के भी रहते है। पंकज सभी को सड़क के बायीं तरफ से चलने के लिए कहता है सभी लड़के कतारबद्ध होकर नियम से चलते हुए स्कूल पहुंचते है।)

 

 

पंकज (प्रभात से) – देखा तुम लोगो ने, हम लोगो के सड़क सुरक्षा का नियम पालन करने से सभी लोगो को कितना फायदा होता है।

 

 

निरंजन – हां, पंकज! हमे भी फायदा होता है सड़क सुरक्षा नियमो से अन्य लोग भी सुरक्षित रहते है।

 

 

(एक वृद्ध आदमी गाय के बछड़े के साथ सड़क पार करने की कोशिश करता है दूसरी तरफ से गाड़ी आती है।)

 

 

पंकज (वृद्ध आदमी से) – रुको दादा! गाड़ी आ रही है आप घायल हो जायेंगे।

 

 

(पंकज वृद्ध आदमी और गाय के बछड़े को सड़क पार कराता है साथ में प्रभास और निरंजन भी रहते है।)

 

 

(कई लोग समवेत स्वर में इन बच्चो की प्रशंसा करते हुए कहते है कि यह सभी बच्चे सड़क सुरक्षा के प्रति कितने जागरूक है।)

 

 

प्रभात – पंकज यह सभी लोग सड़क सुरक्षा के प्रति इतने लापरवाह क्यों होते है?

 

 

पंकज – यह लोग सड़क सुरक्षा को दरकिनार करते हुए दिखाना चाहते है कि हमे किसी बात का डर नहीं है।

 

 

निरंजन – जबकि सड़क सुरक्षा को दरकिनार करने पर दुर्घटना होना सुनिश्चित हो जाता है।

 

 

पंकज – हम सड़क सुरक्षा के प्रति अनुशासित रहेंगे तो शायद हमे देखकर दूसरे लोग भी सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक हो जाए।

 

 

प्रभात –  ठीक कहते हो पंकज, हमे सड़क सुरक्षा के प्रति अपना अनुशासन बनाये रखना होगा।

 

 

निरंजन – पंकज यह बताओ तुम्हे इन सब बातो के लिए जागरूक कौन करता है?

 

 

पंकज – हमारी दीदी मां है न, वह हमे रोज ही सड़क सुरक्षा के प्रति सचेत करती रहती है।

 

 

निर्जन – काश! हमारी भी दीदी होती।

 

 

इसे भी पढ़ें – धरती बचाओ स्क्रिप्ट | Short Drama Script On Save Earth in Hindi

 

2- आखिरी मौक़ा | Short Film Story Script in Hindi

 

 

आशा है कि यह स्क्रिप्ट आपको जरूर पसंद आयी होगी, इस तरह की स्क्रिप्ट्स के लिए इस ब्लॉग को सब्स्क्राइब जरूर करें और इसे शेयर भी करें।

 

 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!